mike tyson dark past confession sick past boxing king reveals paying for orgies physical relation with everybody an animal - बॉक्सिंग किंग माइक टायसन ने मानी जवानी की भूल; खुद को बताया- जानवर, कहा- सबकुछ पैसे से खरीदना चाहता था - Jansatta

बॉक्सिंग किंग माइक टायसन ने मानी जवानी की भूल; खुद को बताया- जानवर, कहा- सबकुछ पैसे से खरीदना चाहता था

रिंग को अलविदा कह चुके इस बॉक्सर ने अब खुद में सुधार होने का दावा किया है। टायसन का कहना है, ‘मैंने खुद को सबसे बड़ी शक्ति (ईश्वर) को खुद को समर्पित कर दिया है। मैंने उनसे कहा कि मेरी मदद करिए।’

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: March 25, 2020 7:54 PM
माइक टायसन अपने करियर में जब टॉप पर थे, तब उनके लिए मॉडल्स और मशहूर हस्तियों के साथ पार्टी करने आम बात थी।

अपने समय में बॉक्सिंग के रिंग में राज करने वाले माइक टायसन ने अपनी जिंदगी का काला सच उजागर किया है। उन्होंने स्वीकार किया है कि हैवीवेट बॉक्सिंग में नाम कमाने के बाद वे संबंध बनाने और पार्टी करने में बेहिसाब दौलत खर्च करते थे। गरीब बचपन से लेकर शानदार करियर बनाने वाले 53 साल के टायसन ने स्वीकार किया कि उन्हें पता ही नहीं था कि प्रसिद्धि और दौलत को कैसे सहेज कर रखना है।

टायसन अपने लंबे करियर के दौरान 58 बार पेशेवर बॉक्सिंग के रिंग में उतरे और 50 बार जीत का सेहरा बांधने में सफल रहे। हालांकि, वे दुष्कर्म के भी दोषी पाए गए और 6 साल जेल की सजा भी हुई। अपने विवादास्पद अतीत को उजागर करते हुए टायसन ने स्वीकार किया कि उनकी जिंदगी में खालीपन था और उन्हें सहारे की जरूरत थी। वे पैसे के दम पर सबकुछ खरीदना चाहते थे।

अपने YouTube शो पर बोलते हुए अमेरिका के इस पूर्व बॉक्सर ने कबूल किया, ‘जब मैं युवा था तब मैं एक पैसे वाला जानवर था। पैसे देकर महिलाओं से संबंध बनाना चाहता था। हर किसी के साथ पार्टी करना और किसी की भी मां, बहन और चचेरी बहन के साथ संबंध बनाने को आतुर रहता था। मैं पागल था। मैं बहुत उदास था और मुझे नहीं पता था कि मैं कितना उदास हूं। मैंने लड़कियों के लिए बहुत सारी कारें भी खरीदीं थीं।’

2013 में अपनी आत्मकथा में उन्होंने स्वीकार किया था, ‘मेरा ध्यान शराब पीने, भोजन करने और महिलाओं से संबंध बनाने पर रहता था।’ हालांकि, रिंग को अलविदा कह चुके इस बॉक्सर ने अब खुद में सुधार होने का दावा किया है। टायसन का कहना है, ‘मैंने खुद को सबसे बड़ी शक्ति (ईश्वर) को खुद को समर्पित कर दिया है। मैंने उनसे कहा कि मेरी मदद करिए। मैं और कुछ नहीं कर सकता। मेरा मार्गदर्शन करें। ईश्वर या जो कोई भी आप हो। मुझे नहीं पता कि क्या करना है…।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

div , .strick-ads-newm > div {margin: 0 auto; } .extra-bbc-class{bottom: 103px;} } @media (max-width:480px){ .trending-list li{width:100%; padding-left:15px;} } .custom-share>li>a i.linke{background-position:2px -142px; width:23px; height:24px;} .custom-share>li>a i.linke {background-position:3px -180px; width: 23px; height: 24px;} .custom-share>li.linke a{background:#0172b1;}
0 ) { try { var justnowcookieval = getjustnowcookie( 'jsjustnowclick' ); if ( 1363065 != justnowcookieval || null === justnowcookieval || 'undefined' === justnowcookieval ) { jQuery('.breaking-scroll-j').css('display', 'block'); } else { jQuery('.breaking-scroll-j').css('display', 'none'); } } catch (err) { } } } setTimeout( function() { show_justnow_wid() }, 2000 ); if( getCookie("jsjustnowclick") != '' ){ if( getCookie("jsjustnowclick") != 1363065 ){ document.cookie = 'jsjustnowclick' + "=" + getCookie("jsjustnowclick") + "; expires=Thu, 01 Jan 1970 00:00:00 UTC; path=/;"; } } if( getCookie("jsjustnowclick") == '' ){ jQuery( '#append_breaking_box' ).show(); } else { jQuery( '#append_breaking_box' ).hide(); } // }); }); jQuery(document).scroll(function() { var y = jQuery( this ).scrollTop(); if (y > 400) { jQuery( '#append_breaking_box' ).addClass( 'animate-break' ); } else { jQuery( '#append_breaking_box' ).removeClass( 'animate-break' ); } });
*/ */ */ */